अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ मोदी की मुलाकात, ईरान के साथ चल रहे तनाव पर भी बात

Narendra Modi and Donald TrumpPhoto Credit : Twitter Narendra Modi

ओसाका । जी-20 शिखर सम्मेलन में नरेंद्र मोदी की अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से द्विपक्षीय मुलाकात भी हुई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फारस की खाड़ी में ईरान से संबंधित तनावों पर भारत की चिंताओं से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को अवगत कराया। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस क्षेत्र में ‘अस्थिरता’ ऊर्जा के अतिरिक्त ‘कई मायनों’ में भारत को प्रभावित करती है। विदेश सचिव विजय गोखले ने मीडिया से कहा कि दोनों नेताओं ने इस बात पर सहमति जताई कि वे और उनके अधिकारी निरंतर संपर्क में रहेंगे, ताकि क्षेत्र स्थिर रहे।

विदेश सचिव ने कहा, “जहां तक ईरान का संबंध है, प्रधानमंत्री ने हमारी ऊर्जा चिंताओं और क्षेत्र में शांति और स्थिरता के बारे में हमारी चिंताओं को रेखांकित किया।”  उन्होंने कहा, “ईरान पर, प्राथमिक फोकस यह था कि हम उस क्षेत्र में स्थिरता कैसे सुनिश्चित करते हैं। इस क्षेत्र में अस्थिरता हमें कई मायनों में प्रभावित करती है, न सिर्फ हमारी ऊर्जा जरूरतों के लिहाज से, बल्कि खाड़ी में मौजूद लगभग 80 लाख भारतीय प्रवासियों और आर्थिक हितों के संदर्भ में भी प्रभावित करती है।”

आतंकवाद का आर्थिक विकास पर नकारात्मक असर : नरेंद्र मोदी
उन्होंने कहा कि यह भारत और अमेरिका के हित में है कि यह क्षेत्र स्थिर बना रहे। ट्रंप के साथ मोदी की बैठक का विवरण देते हुए, गोखले ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अमेरिकी राष्ट्रपति से कहा कि भारत ने ईरान से तेल आयात घटाया है, जो भारत की ऊर्जा का 11 प्रतिशत आपूर्ति करता है। उन्होंने कहा कि भारत ने अपनी अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले प्रभाव के बावजूद ऐसा किया है। अमेरिका ने मई में ईरान से तेल आयात करने के प्रतिबंधों से भारतीय कंपनियों को अपनी छूट समाप्त कर दी थी।
(आईएएनएस)