आतंकवाद का समर्थन करने वालों को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए : मोदी

Modi at SCO SummitPhoto Credit: Twitter PIB

बिश्केक। किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में आयोजित एससीओ सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आतंकवाद को सहायता देने वाले देशों पर जमकर निशाना साधा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जो देश आतंकवाद का समर्थन करते हैं,  इसे प्रोत्साहित करने के साथ-साथ आर्थिक मदद करते हैं, ऐसे देशों को उनके क्रियाकलापों के लिए जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए।

यहां एससीओ सम्मेलन को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि इसके सदस्य देशों का विजन क्षेत्र में स्वस्थ सहयोग को मजबूत करना है और ‘हेल्थ’ इसके लिए एक अच्छा जरिया हो सकता है।

Narendra Modi 'Health' formula

Photo Credit: Twitter DDNews Live

हेल्थ से प्रधानमंत्री का मतलब स्वास्थ्य सुविधा सहयोग, व्यापारिक सहयोग, वैकल्पिक ऊर्जा, साहित्य और संस्कृति, आतंक मुक्त समाज और मानवतावादी सहयोग से है।

मोदी ने कहा कि श्रीलंका में आतंक प्रभावित स्थल का दौरा करने के दौरान उन्होंने आतंकवाद का कुरूप चेहरा देखा, जो कहीं भी सिर उठा सकता है और निर्दोष लोगों की जान ले सकता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मालदीव का सर्वोच्च सम्मान

उन्होंने कहा, “इन सबसे निपटने के लिए, सभी मानवीय ताकतों को अपने संकीर्ण चिंताओं से मुक्त होकर सामने आना चाहिए और एकजुट होना चाहिए। आतंकवाद को समर्थन, सहायता या वित्तपोषण करने वाले देश को जिम्मेदार ठहराया जाना जरूरी है। एससीओ देशों को आतंकवाद मिटाने के लिए एसीओ-आरएटीएस (शंघाई कॉपोरेशन ऑरगेनाइजेशन-रीजनल एंटी टेरेरिस्ट स्ट्रक्चर) के अंतर्गत सहयोग के संभावनाओं का इस्तेमाल करना चाहिए। भारत आतंकवाद से निपटने के लिए अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन बुलाने का आह्वान करता है।”