आरबीआई ने 17 महीनों के बाद घटाया रेपो रेट, घट सकती है ईएमआई

Viral Acharya

आरबीआई ने क्रेडिट पॉलिसी की समीक्षा करते हुए रेपो रेट घटा दिया है, जिसके बाद बैंक भी होम लोन और ऑटो लोन पर लेने वाले ब्याज़ दर में कटौती कर सकते हैं । इससे ईएमआई कम हो सकती है । आरबीआई ने रेपो रेट में 25 बेसिस प्वाइंट की कमी की है, जिससे ये रेट अब 6.25 फीसदी हो गया है ।

आरबीआई ने यह कदम तरलता के संकट से निपटने के लिए उठाया है, जिससे चुनावी साल में अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास के मुताबिक विकास दर को बढ़ावा देने के लिए समयबद्ध तरीके से काम करना ज़रूरी है और रेपो रेट कम करने  निजी निवेश गतिविधियां और निजी उपभोग मजबूत होगा। इससे पहले आरबीआई ने रेपो रेट अगस्त 2017 में कम किए थे ।

आरबीआई ने इसके अलावा उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई), या खुदरा मुद्रास्फीति अनुमान को आगामी तिमाही के लिए संशोधित कर 2.8 फीसदी कर दिया है, जबकि अगले वित्त वर्ष की पहली छमाही में इसके 3.2-3.4 फीसदी और वित्त वर्ष 2019-20 की तीसरी तिमाही में 3.9 फीसदी रहने का अनुमान लगाया है।

केंद्रीय बैंक ने अनुमान लगाया है कि जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) की वृद्धि दर अप्रैल से शुरू होनेवाले अगले वित्त वर्ष की पहली छमाही में 7.2-7.4 फीसदी के रेंज में रहेगी और तीसरी तिमाही में 7.5 फीसदी रहेगी।