इसरो करेगा रक्षा उपग्रह लॉन्च

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी एक विशेष मिशन के तहत मार्च में डीआरडीओ के लिए एक इलेक्ट्रॉनिक खुफिया उपग्रह एमिसैट लॉन्च करेगी। इस मिशन में पीएसएलवी के नए संस्करण के साथ 28 उपग्रह भी अंतरिक्ष में जाएंगे ।  इस दौरान अलग-अलग कक्षाओं के लिए नई तकनीकों को भी आजमाया जाएगा।

हालांकि अभी तक इसरो की तरफ से लॉन्च की तिथि का खुलासा नहीं किया गया है । 

डीआरडीओ के अध्यक्ष के. सिवन ने बताया, “यह हमारा एक विशेष मिशन है। हम पीएसएलवी रॉकेट का उपयोग चार स्ट्रैप-ऑन मोटर्स (बूस्टर) के साथ करेंगे। इसके अलावा पहली बार हम तीन अलग-अलग ऊंचाई पर रॉकेट को पहुंचाने की कोशिश करेंगे।”

उन्होंने कहा, “पीएसएलवी रॉकेट में मुख्य उपग्रह डीआरडीओ का रक्षा खुफिया उपग्रह एमिसैट होगा। इसका वजन 420 किलोग्राम का होगा।” 

सिवन ने बताया, “इसके साथ ही रॉकेट हमारे ग्राहकों के 28 उपग्रह भी लेकर जाएगा, जिनका कुल वजन 250 किलोग्राम है।”

डीआरडीओ का एमिसैट इलेक्ट्रॉनिक खुफिया उपग्रह है।

इसरो जुलाई, अगस्त में अपने नए रॉकेट यान एसएसएलवी के साथ दो और रक्षा उपग्रह भी लॉन्च करेगा।

सिवन ने कहा, “763 किलोमीटर की ऊंचाई पर एमिसैट को लॉन्च करने के बाद रॉकेट को 28 उपग्रहों को कक्षा में स्थापित करने के लिए 504 किलोमीटर की ऊंचाई पर नीचे लाया जाएगा।” 

आईएएनएस इनपुट के साथ