कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच अमरनाथ यात्रा शुरू

Amarnath YatraFirst Batch of Amarnath Yatri left base camp

जम्मू । कड़ी सुरक्षा के बीच इस साल के लिए अमरनाथ यात्रा की शुरुआत हो चुकी है। पहले जत्थे में 7,500 से ज्यादा तीर्थयात्री हिमालय की पवित्र गुफा में मौजूद बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए रवाना हो गए। रविवार को कश्मीर घाटी के लिए 2,000 से अधिक तीर्थयात्रियों का पहला जत्था रवाना होने के बाद 4,417 तीर्थयात्रियों का दूसरा जत्था जम्मू से गुफा के लिए रवाना हुआ।

एक अधिकारी के मुताबिक तीर्थयात्रियों के जत्थे के जवाहर सुरंग को पार करने के बाद ही श्रीनगर से जम्मू तक यातायात की अनुमति दी जाएगी। अमरनाथ यात्रियों को ले जाने वाले किसी भी वाहन को पुंछ और राजौरी जिलों को जोड़ने वाले मुगल रोड पर जाने की अनुमति नहीं होगी।

अमित शाह ने कहा, आतंकवाद और आतंकियों के प्रति कोई सहिष्णुता नहीं

उत्तरी कश्मीर के गांदरबल जिले में बालटाल के बेस कैंप से 7,500 तीर्थयात्री यात्रा के लिए रवाना हुए हैं, जबकि बाकी तीर्थयात्री पहलगाम मार्ग से होकर यात्रा करते हुए छड़ी मुबारक के साथ गुफा तक पहुंच चुके हैं।

इस साल भी अमरनाथ यात्रा 45 दिनों की है, 15 अगस्त के बाद तीर्थयात्री बाबा बर्फानी के दर्शन नहीं कर पाएंगे।

जम्मू एवं कश्मीर के राज्यपाल सत्य पाल मलिक भी मंदिर में विशेष पूजा में भाग लेंगे, जो परंपरागत रूप से पहले दिन की सुबह अमरनाथ गुफा में ‘छड़ी मुबारक’ के आगमन के साथ शुरू होती है।