कांग्रेस आतंकवादी ताकतों को जवाब नहीं देना चाहती : मोदी

नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पर ‘आतंकवाद का समर्थन करने और सशस्त्र बलों पर सवाल उठाने वालों को ठिकाना बनने’ का आरोप लगाया। नरेंद्र मोदी ने सैम पित्रोदा के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए ये बातें कही हैं ।

सैम पित्रोदा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के प्रमुख सलाहकार हैं । पित्रोदा ने पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले के बारे में कहा था कि ऐसी घटनाएं हमेशा होती रहती हैं । पित्रोदा ने ये भी कहा कि 2008 मुंबई हमले के बाद यूपीए की सरकार भी सीमापार कार्रवाई कर सकती थी लेकिन दुनिया से निपटने के लिए यह सही तरीका नहीं है।

पाकिस्तान के सामानों पर भारत ने 200 फीसदी बढ़ाई कस्टम ड्यूटी

‘कांग्रेस आतंकवादी ताकतों को जवाब नहीं देना चाहती’

नरेंद्र मोदी ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, “कांग्रेस राजघराने के वफादार दरबारी ने वह मान लिया है जो देश पहले से जानता है कि कांग्रेस आतंकवादी ताकतों को जवाब नहीं देना चाहती। यह नया भारत है-हम आतंकवादियों को उसी की भाषा में जवाब देंगे जो उसे समझ में आती है।”

प्रधानमंत्री ने कहा, “कांग्रेस अध्यक्ष के सबसे भरोसेमंद सलाहकार और मार्गदर्शक ने कांग्रेस की तरफ से पाकिस्तान के नेशनल डे समारोह की शानदार शुरुआत सेना के अपमान के साथ कर दी है। शर्मनाक ।”

भारत सरकार ने पाकिस्तान नेशनल डे का बहिष्कार किया

विपक्ष आतंकवाद का समर्थन करने वालों का ठिकाना

नरेंद्र मोदी ने इसके अलावा समाजवादी पार्टी के नेता रामगोपाल यादव के बयान की भी आलोचना की । मोदी ने कहा, “रामगोपाल जी जैसे वरिष्ठ नेता का यह निंदनीय बयान उन सभी का अपमान है जिन्होंने कश्मीर की हिफाजत में अपनी जानें दी हैं। यह शहीदों के परिवारों का अपमान है। विपक्ष आतंकवाद का समर्थन करने और सशस्त्र सेनाओं पर सवाल उठाने वालों का ठिकाना हो गया है।” रामगोपाल यादव ने कहा था कि पुलवामा हमला वोट पाने के लिए की गई साजिश थी और नई सरकार के आने के बाद इसकी जांच कराई जाएगी।

प्रधानमंत्री ने विपक्ष पर बार-बार सुरक्षा बलों का अपमान करने का आरोप लगाया।

सैम पित्रोदा के बयान पर आक्रामक हुई बीजेपी

इससे पहले बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस पर ‘पाकिस्तान से आतंकवाद को अलग करने’ का आरोप लगाया था ।

आईएएनएस इनपुट