कांग्रेस का घोषणापत्र ‘ढकोसला पत्र’ है : मोदी

नरेंद्र मोदी

पासीघाट | अरुणाचल प्रदेश में रैली के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस के घोषणापत्र को ‘ढकोसला पत्र’ करार दिया है । मोदी ने कहा कि कांग्रेस 60 साल में भी पूर्वोत्तर के लोगों की आकांक्षाओं को पूरा नहीं कर पाई ।

मोदी ने पूर्वी अरुणाचल प्रदेश जिले में जनरल ग्राउंड पर चुनावी रैली में कहा कि उनकी सरकार पूर्वोत्तर भारत व अरुणाचल प्रदेश को पूर्वी एशिया का प्रवेश द्वारा बनाने के लिए प्रतिबद्ध है।

मोदी ने कहा, “मैं एक ऐसा व्यक्ति हूं जो चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार हूं। मैं दावा नहीं कर सकता कि पांच सालों में मैंने सभी कार्य किए जिनकी जरूरत थी, लेकिन यह चौकीदार विकास सुनिश्चित करने के लिए लगातार काम कर रहा है।”

नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस के मैनिफेस्टो को झूठ से भरा हुआ करार दिया । उन्होंने कहा कि कांग्रेस के 2004 के घोषणापत्र में 2009 तक देश के सभी घरों में बिजली पहुंचाने का वादा किया गया था। 2009 में भी कांग्रेस ने यही वादा किया फिर साल 2014 में पार्टी ने कहा कि शहरी इलाके के 100 फीसदी घरों व ग्रामीण इलाकों के 90 फीसदी घरों में बिजली का कनेक्शन दिया जाएगा। मोदी ने ये दावा किया कि 2014 में बीजेपी की सरकार बनने तक 18,000 गांवों को बिजली कनेक्शन दिया जाना बाकी था।

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए कांग्रेस के घोषणापत्र की अहम बातें

प्रधानमंत्री ने कहा कि बीजेपी विभिन्न समुदायों की संस्कृति और परंपरा के संरक्षण के पक्ष में है ।  मोदी ने रैली में लोगों से सवाल किया कि कांग्रेस के शासन काल में कितने प्रधानमंत्री अरुणाचल आए, उन्होंने ये दावा भी किया कि शासनकाल के पिछले 60 महीनों में उन्होंने 30 बार पूर्वोत्तर राज्यों का दौरा किया है ।
अरुणाचल प्रदेश की 60 सदस्यीय विधानसभा और दो लोकसभा सीटों के लिए 11 अप्रैल को मतदान होना है।