कोलकाता हिंसा मामले में बीजेपी का जंतर- मंतर पर प्रदर्शन

BJP Leaders at Jantar MantarPhoto Credit: Twitter BJP

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में अमित शाह के रोड शो के दौरान हुई हिंसा के खिलाफ बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं ने जंतर मंतर पर प्रदर्शन किया।

बंगाल बचाओ, लोकतंत्र बचाओ के नारे के साथ किए गए प्रदर्शन में केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण, जितेंद्र सिंह, डॉ हर्षवर्धन और विजय गोयल समेत कई बड़े बीजेपी नेताओं ने हिस्सा लिया है।

बीजेपी ने इससे पहले तृणमूल कांग्रेस और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हिंसा के आरोप लगाए हैं । बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि उनकी पार्टी पूरे देश में चुनाव लड़ रही है लेकिन हिंसा सिर्फ पश्चिम बंगाल में हुई है ।

शाह ने कहा, “ममता बनर्जी बीजेपी पर राज्य में हिंसा फैलाने का आरोप लगा रही हैं। वह केवल 42 सीटों पर चुनाव लड़ रही है, लेकिन बीजेपी पूरे देश में चुनाव लड़ रही है। बंगाल को छोड़कर और कहीं भी हिंसा की घटना होने की खबर नहीं है। इसका मतलब कि तृणमूल हिंसा के लिए जिम्मेदार है।”

अमित शाह ने चुनाव आयोग पर भी सवाल उठाए हैं। अमित शाह ने कहा है, “चुनाव आयोग मूकदर्शक रहा है। देश में हर जगह ‘आपराधिक प्रवृत्ति’ के लोग चुनावों से पहले ही पकड़े जाते हैं लेकिन पश्चिम बंगाल में वे आजाद घूम रहे हैं, अभी तक किसी एक व्यक्ति की गिरफ्तारी नहीं हुई है। बंगाल में चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर मैं सवाल उठा रहा हूं।”

इस मामले में पश्चिम बंगाल में अमित शाह के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की गई है। तृणमूल कांग्रेस की तरफ से हंगामे एक वीडियो जारी कर बीजेपी पर बवाल करने के आरोप लगाए गए हैं। वाम मोर्चे ने भी बंगाल में प्रदर्शन किया है ।

मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव सीताराम येचुरी और वाम मोर्चे के अध्यक्ष बिमान बोस के नेतृत्व में रैली मध्य कोलकाता के कॉलेज स्क्वायर में विद्यासागर उद्यान से शुरू हुई और हेदुआ के पास आजाद हिंद बाग तक गई।

रैली में भाग लेने वाले वाम नेताओं और कार्यकर्ताओं ने हिंसा और आगजनी की घटना को बंगाल की सांस्कृतिक परंपरा पर एक ‘धब्बा’ करार दिया और लोगों से भाजपा और तृणमूल कांग्रेस द्वारा बनाए गए ‘सांप्रदायिक ध्रुवीकरण के जाल’ में नहीं फंसने का आग्रह किया।

कोलकाता में अमित शाह के रोड शो में आगजनी, हंगामा

14 मई को कोलकाता में अमित शाह के रोड शो के दौरान हिंसक प्रदर्शन हुआ था। कुछ जगहों पर आगजनी हुई और अमित शाह के ट्रक पर डंडे फेंके गए थे। विद्यासागर कॉलेज के पास बीजेपी और टीएमसी समर्थकों के बीच झड़प भी हो गई थी ।