कोविड-19 महामारी के खत्म होने की भविष्याणी करना मुश्किल, प्रभावी उपचार विकसित करने होंगे: डब्ल्यूएचओ

WHO Covid 19

जेनेवा । डब्ल्यूएचओ यानि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि कोविड 19 महामारी के खत्म होने की भविष्यवाणी नहीं की जा सकती और बहुत मुमकिन है कोरोना वायरस हमारे बीच बना रहे ।

हालांकि इसके साथ ही विश्व स्वास्थ्य संगठन ने ये भी कहा है कि दुनिया भर के देशों को इसके बारे में सकारात्मक तरीके से कदम उठाने चाहिएं और वायरस को खत्म करने की कोशिशों में सहयोग करना चाहिए ।

डब्ल्यूएचओ के डॉ. माइकल रयान के मुताबिक यह वायरस कभी दूर नहीं जा सकता। और कोविड-19 से संक्रमित लोगों की संख्या उम्मीद से कम है।

देश में कोरोना संक्रमित का आँकड़ा 78 हज़ार के पार, इलाज के बाद 26 हज़ार से ज़्यादा मरीज ठीक

डॉ रयान ने ये भी कहा कि इस वायरस के खिलाफ इम्युनिटी को मजबूत करने में इंसानों का कई साल लग सकते हैं और हो सकता है ये वायरस हमारे बीच बना रहे । पहले की बीमारियां जैसे कि एचआईवी कभी भी खत्म नहीं हुई है, लेकिन लोगों को बीमारी के साथ रहने के लिए प्रभावी उपचार विकसित किए गए हैं।’

युद्धस्तर पर करना होगा काम

डब्ल्यूएचओ ने ये उम्मीद जताई कि इस वायरस की रोकथाम के लिए प्रभावी टीका विकसित कर लिया जाएगा लेकिन इसका उत्पादन और दुनिया भर में इसके वितरण की कोशिश में लगे लोगों को युद्धस्तर पर काम करना होगा ।

वहीं, कोरोना वायरस के लिए डब्ल्यूएचओ की तकनीकी प्रमुख मारिया वान केरखोव ने कहा कि कई लोग इस महामारी की वजह से काफी निराशा महसूस कर रहे हैं लेकिन ये बात जाननी ज़रूरी है कि बिना किसी मेडिकल हस्तक्षेप के भी इस वायरस को रोका जा सकता है और कुछ देशों ने इसमें कामयाबी हासिल कर ली है ।