गुरुवार को गुजरात तट से टकराएगा चक्रवात ‘वायु’

Gujarat NDRFPhoto Credit : Twitter NDRF

अहमदाबाद। गुजरात के कुछ इलाकों में कल की सुबह लोगों को चक्रवात का सामना करना पड़ेगा। राज्य के सौराष्ट्र तट से 600 किलोमीटर दक्षिण में केंद्रित चक्रवात ‘वायु’ के गुरुवार सुबह राज्य में दस्तक देने की संभावना है।

अधिकारियों के मुताबिक केंद्रीय और राज्य स्तरीय आपदा प्रबंधन टीमों ने सभी तटवर्ती जिलों में इससे निपटने के लिए खाका तैयार कर लिया है।

केंद्र सरकार लगातार हालात पर नज़र बनाए हुए है । खुद प्रधानमंत्री ने ट्विटर पर लिखा है कि केंद्र सरकार चक्रवात ‘वायु’ से प्रभावित होने वाले राज्यों की सरकारों के संपर्क में है ।

गुजरात के मुख्य सचिव जे.एन. सिंह ने भारतीय मौसम विभाग का हवाला देते हुए कहा है कि चक्रवात गुरुवार सुबह 6 से 7 बजे के बीच वेरावल के पास दस्तक दे सकता है।

अधिकारियों ने कहा कि चक्रवात वायु मंगलवार की सुबह वेरावल के दक्षिण में 690 किमी दूरी पर था। इसके दस्तक देने के दौरान रफ्तार 110 किलोमीटर से 135 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है।

बिहार में बुजुर्ग माता-पिता की सेवा नहीं करने वाले जाएंगे जेल

मौसम विभाग के अधिकारियों के अनुसार, सौराष्ट्र क्षेत्र के कई तटवर्ती जिलों में भारी बारिश हो सकती है। यह पूर्व मानसून बारिश है।

मुख्य सचिव ने कहा कि एनडीआरएफ की टीमों को तटवर्ती सौराष्ट्र क्षेत्र और गिर सोमनाथ में तैनात किया गया है । एनडीआरएफ के लोग भारतीय सेना, नौसेना व भारतीय तट रक्षक बल के साथ मिलकर काम कर रहे हैं।

लोगों को सार्वजनिक माध्यमों, एसएमएस और व्हाट्सएप संदेशों के ज़रिए हालात के बारे में जागरुक किया जा रहा है।

जे एन सिंह के मुताबिक, “राज्य मशीनरी पूरी तरह से तैयार है और स्थिति से निपटने के लिए लैस है।”

मुख्यमंत्री विजय रूपाणी भी लगातार हालात पर नज़र बनाए हुए हैं उन्होंने अधिकारियों के साथ दो बार समीक्षा बैठक की है।

फानी : ओडिशा में तेज़ तूफान व भारी बारिश का कहर

अधिकारियों के मुताबिक इस मामले में ओडिशा सरकार से भी सलाह ली जा सकती है कि किस तरह उन्होंने चक्रवात फानी के दौरान केंद्र की मदद से सराहनीय काम किया था।