झारखंड सरकार की मीठी क्रांति योजना

रांची । झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने 100 करोड़ रुपये की मीठी क्रांति योजना की शुरुआत की । इस योजना में लगभग 1200 किसानों को मधुमक्खी पालन के लिए एक-एक लाख रुपये दिए जाएंगे।

मुख्यमंत्री रघुबर दास ने कहा, “1,207 किसानों को प्रशिक्षण के बाद मधुमक्खी पालन के लिए एक-एक लाख रुपये दिए जाएंगे। इस राशि में 80,000 रुपये अनुदान के रूप में प्रदान किए जाएंगे। किसान महज 20,000 रुपये का निवेश करके 1.30 लाख रुपये सालाना कमा सकेंगे।”

झारखंड राज्य में शहद का उत्पादन बड़ी मात्रा में होता है। इसके लिए सरकार हर संभव मदद कर रही है। मधुमक्खी पालन के लिए सरकार 80 फीसदी राशि सब्सिडी देगी। सरकार शहद बेचने का जिम्मा भी उठाएगी । इस योजना पर 100 करोड़ रुपए खर्च होंगे, जिसमें 10 करोड़ रुपए मंजूर किए जा चुके हैं  । 

सरकार ने योजना की शुरुआत के मौके पर 1207 किसानों को बक्से और मधुमक्खी दिए हैं । सरकार ने आश्वासन दिया है कि शहद की प्रोसेसिंग के लिए प्लांट लगाया जाएगा।

राज्य खादी बोर्ड की ओर से इसके लिए प्रशिक्षण भी दिया जाता है। सीएम ने कहा कि किसानों के लिए योजनाओं के लाभ के लिए वह खुद भी सक्रिय रहें। 

आईएएनएस इनपुट के साथ