टाइम मैगजीन ने मारी पलटी, कहा, ‘मोदी ने भारत को एकजुट किया’

न्यूयॉर्क। नरेंद्र मोदी को ‘डिवाइडर इन चीफ’ बताने वाली टाइम मैगजीन ने पलटी मारते हुए कहा है, ‘मोदी ने भारत को इतना एकजुट किया, जो कि दशकों में कोई प्रधानमंत्री नहीं कर पाया।’

टाइम की वेबसाइट पर प्रकाशित हुए अपने नए आर्टिकल में टाइम मैगजीन ने लिखा है कि मोदी भारत की सबसे बड़ी कमी जातिगत भेदभाव को पार करने में कामयाब रहे हैं।

इसके लेखक, मनोज लाडवा ने मोदी के एकजुटता के सूत्रधार के रूप में उभरने का श्रेय उनके पिछड़ी जाति में पैदा होने को दिया है।

http://time.com/5595467/narendra-modi-india-unite-prime-minister/

लेख में लाडवा ने लिखा है, “नरेंद्र मोदी का जन्म भारत के सबसे वंचित सामाजिक समूहों में से एक में हुआ था। बिल्कुल शीर्ष पर पहुंचते हुए, वह आकांक्षापूर्ण कामगार वर्ग को प्रतिबिंबित करते हैं और अपने देश के सबसे गरीब नागरिकों के रूप में अपनी पहचान पेश कर सकते हैं, जैसा कि आजादी के बाद 72 सालों में सबसे ज्यादा समय भारत की सत्ता पर रहने वाला नेहरू-गांधी राजनीतिक वंश कभी नहीं कर सकता।”

30 मई को शपथ लेंगे नरेंद्र मोदी, पाकिस्तान छोड़ कई देश के नेताओं को न्योता

उन्होंने 1971 में इंदिरा गांधी को मिली भारी जीत की तुलना मोदी की जीत से करते हुए लिखा है, ‘उनके पहले कार्यकाल के पूरे समय के दौरान और उनकी इस बार की चुनावी दौड़ के दौरान मोदी की नीतियों के खिलाफ कड़ी और अक्सर अनुचित आलोचनाओं के बावजूद, पिछले पांच दशकों में कोई भी प्रधानमंत्री भारत के मतदाताओं को इतना एकजुट नहीं कर पाया, जितना मोदी ने किया है।”

लाडवा लिखते हैं कि सामाजिक रूप से विकासशील नीतियों के जरिए, मोदी ने भारतीयों, चाहे वो  हिंदू हों या धार्मिक अल्पसंख्यक, को किसी भी पिछली पीढ़ी की तुलना में गरीबी से तेज रफ्तार से बाहर निकाला है।

भारतीय राजनीति में नीति और नीयत का बाहुबली नरेंद्र  

मनोज लाडवा इंडिया ग्लोबल बिजनेस प्रकाशित करने वाली ब्रिटेन की मीडिया कंपनी इंडिया इंक के संस्थापक और सीईओ हैं।

पहले बताया था डिवाइडर इन चीफ

भारत में होने वाले आम चुनाव के दौरान टाइम मैगजीन ने अपनी कवर स्टोरी में नरेंद्र मोदी को ‘डिवाइडर इन चीफ’ बताया था। आतिश तासीर के लिखे इस लेख को चुनाव प्रचार के दौरान विपक्षी दलों ने काफी इस्तेमाल किया था ।

तासीर ने अपने लेख में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कामकाज की सख्त आलोचना की थी। लेख में नेहरू के समाजवाद और भारत की मौजूदा सामाजिक परिस्थिति की तुलना की गई थी, कहा गया था कि नरेंद्र मोदी ने हिन्दू और मुसलमानों के बीच भाईचारे की भावना को बढ़ाने के लिए कोई इच्छा नहीं जताई।

लेख में कहा गया था कि नरेंद्र मोदी ने भारत के महान शख्सियतों पर राजनीतिक हमले किए। मोदी कांग्रेस मुक्त भारत की बात करते हैं लेकिन कभी भी हिन्दू-मुसलमानों के बीच भाईचारे की भावना को मजबूत करने के लिए कोई इच्छाशक्ति नहीं दिखाई।

आतिश तासीर भारतीय पत्रकार तवलीन सिंह और पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के दिवंगत गवर्नर सलमान तासीर के ब्रिटेन में जन्मे बेटे हैं।