तृणमूल में टूट, बीजेपी ने दिया दूसरा बड़ा झटका

TMC leaders Joined BJP in DelhiPhoto Credit: Twitter BJP

कोलकाता। लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में बीजेपी की जीत से करारा झटका खा चुकी तृणमूल कांग्रेस को एक और झटका लगा है ।

तृणमूल कांग्रेस के 2 विधायक और 50 से ज्यादा पार्षद दिल्ली आकर बीजेपी में शामिल हो गए हैं। बीजेपी में शामिल होने वालों में सीपीएम का भी एक विधायक है।

भारतीय जनता पार्टी के नेता मुकुल रॉय के बेटे सुभ्रांशु रॉय की अगुवाई में बड़ी संख्या में विधायक और पार्षद दिल्ली आए। पार्टी मुख्यालय मे बीजेपी के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय की मौजूदगी में इन्हें बीजेपी की सदस्यता दिलाई गई।

कैलाश विजयवर्गीय ने इस मौके पर कहा कि जिस तरह सात चरणों में बंगाल में चुनाव हुए हैं वैसे ही कई चरणों में बंगाल के नेता बीजेपी से जुड़ेंगे। आज ये पहला चरण है।

सुभ्रांशु को तृणमूल ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए छह साल के लिए निलंबित कर दिया था।

सुभ्रांशु के साथ हालीशहर के करीब 18 पार्षद, नैहाटी के 17 और कांचड़ापारा क्षेत्र के 14 पार्षद हैं।

इन नेताओं के बीजेपी में शामिल हो जाने के बाद तृणमूल तीनों नगरपालिकाओं पर नियंत्रण खो सकती है।

पश्चिम बंगाल: ममता बनर्जी ने इस्तीफे की पेशकश की

मुकुल रॉय ने दिल्ली में दावा किया है कि बीजेपी का आने वाले समय में बंगाल की 60 नगर पालिकाओं पर नियंत्रण हो सकता है।

सुभ्रांशु रॉय के अलावा बिष्णुपुर के टीएमसी विधायक तुषारकांति भट्टाचार्य और सीपीएम के विधायक देवेंद्र रॉय भी बीजेपी के पाले में आ चुके हैं । इनके अलावा कई और तृणमूल विधायकों के बीजेपी में आने की अटकलें हैं।

बंगाल लोकसभा चुनाव दीदी को सोने नहीं दे रहा : मोदी

लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह और बीजेपी के बाकी नेताओं ने दावा किया था कि आम चुनाव खत्म होते ही तृणमूल के लगभग 100 विधायक बीडेपी में शामिल हो सकते हैं। मोदी ने यहां तक कहा था कि तृणमूल के 40 विधायक उनके संपर्क में हैं।

बीजेपी ने शानदार प्रदर्शन के साथ राज्य की 42 लोकसभा सीटों में से 18 सीटों पर कब्जा कर लिया।

जबकि 2014 में 34 सीटें हासिल करने वाली तृणमूल इस बार 22 सीटों पर सिमट गई।