दिग्विजय ने शिवराज को दी खुली बहस की चुनौती

Digvijaya SinghPhoto Credit: Twitter handle Digvijaya Singh

भोपाल | कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने बीजेपी नेता शिवराज सिंह चौहान को खुली बहस की चुनौती दी है । दोनों ही नेता मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं । दिग्विजय सिंह ने खुद को ‘बंटाधार रिटर्न्स’ कहे जाने पर ऐसा किया है।

भोपाल से कांग्रेस उम्मीदवार बनाए जाने पर दिग्विजय सिंह को शिवराज सिंह चौहान ने ‘बंटाधार रिटर्न्स’ कहा था । दिग्विजय सिंह ने बतौर मुख्यमंत्री अपने कार्यकाल के 10 साल और शिवराज सिंह चौहान के 15 साल के कार्यकाल में विकास जैसे तमाम मुद्दों पर बहस की चुनौती दी है ।

भोपाल से दिग्विजय सिंह लड़ेंगे चुनाव

दिग्विजय ने भोपाल संसदीय क्षेत्र के टिकट दिए जाने पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ का आभार जताया है ।भोपाल कांग्रेस की सबसे कमजोर सीट मानी जाती है । दिग्विजय सिंह एक दशक से ज्यादा समय के बाद चुनाव लड़ रहे हैं, दिग्विजय राजगढ़ सीट से चुनाव लड़ना चाहते थे लेकिन मुख्यमंत्री कमलनाथ के कहने पर उन्हें भोपाल की सीट दी गई । कमलनाथ चाहते थे कि दिग्विजय सिंह कांग्रेस की कमजोर सीट से चुनाव लड़ें ।

दिग्विजय ने कहा, “चुनैाती का सामना करना मेरा स्वभाव है। इस बार की चुनौती मैंने इसलिए स्वीकार की है, क्योंकि यह चुनाव भारतीय संस्कृति, परंपराओं, सत्य-अहिंसा के रास्ते पर ले जाने वालों और झूठे, जुमलेबाजों और नफरत फैलाने वालों के बीच है।”

दिग्विजय सिंह ने सिंह ने शिवराज के शासनकाल का जिक्र करते हुए कई आरोप लगाए । सिंह ने कहा कि व्यापम, नर्मदा नदी अवैध खनन, ई-टेंडरिंग घोटाला और पोषण आहार घोटाला समेत कई ऐसे घोटाले हैं, जिसमें चौहान और उनका परिवार शामिल था।

मध्यप्रदेश: जानिए कब है आपके क्षेत्र में मतदान

खुद को ‘मिस्टर बंटाधार’ कहे जाने पर दिग्विजय सिंह ने कहा, “मुझे बंटाधार कहा जाता है, मैं शिवराज से कहता हूं कि सामने आइए, अपने 15 साल और मेरे 10 साल पर चर्चा कर लें। बहस की चुनौती स्वीकार करें, आखिर भागते क्यों हैं?”