देश के पहले ‘आईआईटियन’ मुख्यमंत्री थे मनोहर पर्रिकर

मनोहर पर्रिकर

नई दिल्ली । मनोहर पर्रिकर देश के उन नेताओं में शामिल हैं जिन्होंने ऊंची शिक्षा हासिल की हुई है । आईआईटी से पढ़कर राजनीति में आने और देश के पहले आईआईटियन विधायक और फिर मुख्यमंत्री बनने का रिकॉर्ड मनोहर पर्रिकर के ही नाम है ।

भारतीय जनता पार्टी से गोवा के मुख्यमंत्री बनने वाले पहले नेता भी मनोहर पर्रिकर ही थे । 1994 में पहली बार विधायक चुने गए । साल 2000 में गोवा में पर्रिकर के नेतृत्व में पहली बार बीजेपी की सरकार बनी । फरवरी 2002 में राज्य में राष्ट्रपति शासन लगा लेकिन जून में मनोहर पर्रिकर एक बार फिर राज्य के मुख्यमंत्री बन गए । 2005 तक मनोहर पर्रिकर ने राज्य  कमान संभाली ।

पर्रिकर के निधन पर राष्ट्रीय शोक, असाधारण क्षमता के लिए किए जाएंगे याद

2012 में मनोहर पर्रिकर ने तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली और 2 साल तक मुख्यमंत्री बने रहे । 2014 में मनोहर पर्रिकर को केंद्र में मोदी सरकार में रक्षामंत्री की जिम्मेदारी दी गई । 2017 में पर्रिकर एक बार फिर राज्य की राजनीति में लौट गए और गठबंधन सरकार की जिम्मेदारी संभाली ।

पैंक्रिएटिक कैंसर जैसी घातक बीमारी से जूझते रहने के बावजूद मनोहर पर्रिकर काम करते रहे । ये एक संयोग है कि पर्रिकर की पत्नी मेधा पर्रिकर का भी असमय निधन हुआ था और उनकी मौत भी कैंसर की वजह से हुई थी ।