पंत और रायडू पर हावी पड़े दिनेश कार्तिक, विजय शंकर

दिनेश कार्तिक & विजय शंकर

मुंबई इंग्लैंड एंड वेल्स में 30 मई से शुरू होने वाले वनडे विश्व कप के लिए भारतीय टीम का ऐलान कर दिया गया। टीम चयन में ऋषभ पंत के युवा जोश पर दिनेश कार्तिक का अनुभव भारी पड़ा है।

मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यों की समिति ने अंबाती रायडू की जगह पर हरफनमौला विजय शंकर को वर्ल्ड कप का टिकट दिया है।

विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम में तीसरे सलामी बल्लेबाज के तौर पर लोकेश राहुल को जगह मिली है,  वहीं चौथे तेज गेंदबाज का चयन नहीं किया गया। इसकी जगह रवींद्र जडेजा के रूप में तीसरा स्पिनर टीम में शामिल किया गया है।

चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद के मुताबिक दूसरे रिज़र्व विकेटकीपर के तौर पर दिनेश कार्तिक और पंत के नामों पर विचार किया जा रहा था । चयन समिति को लगा कि कार्तिक अनुभवी खिलाड़ी हैं और महेंद्र सिंह धोनी की गैरमौजूदगी में कार्तिक टीम के लिए ज्यादा मददगार होंगे।

क्रिकेट विश्व कप के लिए भारतीय टीम का ऐलान

एमएसके प्रसाद ने कहा, “हमने इस पर काफी लंबी चर्चा की। हम सभी एक मत पर सहमत हुए कि पंत या कार्तिक यह अंतिम-11 में तभी खेलेंगे जब धोनी नहीं होंगे। ऐसे में अगर आप कोई अहम मैच लें, क्वार्टर फाइनल, सेमीफाइनल, वहां अनुभव और विकेटकीपिंग मायने रखेगी।”

तेज़ गेदबाज़ी ने दिलाई विजय शंकर को टीम में जगह

टीम में विजय शंकर के चयन को लेकर चयनकर्ताओं का कहा है कि वह बल्लेबाजी के साथ तेज गेंदबाजी भी कर सकते हैं। इंग्लैंड में इनका रोल अहम होगा।

विजय शंकर के टीम में आने से चौथे तेज गेंदबाजी की कमी भी पूरी की जा सकती है, इसी वजह से वह रायडू को पछाड़ गए। शंकर के अलावा टीम में एक और हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या हैं जो तेज गेंदबाजी कर सकते हैं। इन्हीं दो के कारण चयनकर्ताओं ने चौथे तेज गेंदबाज को नहीं चुना।

प्रसाद ने कहा, “तीन प्रमुख तेज गेंदबाजों के अलावा हमारे पास टीम में हार्दिक भी हैं जो तेज गेंदबाजी करते हैं और फिर शंकर भी हैं। वहीं दो स्पिनरों के अलावा केदार जाधव भी स्पिन कर लेते हैं, तो हमारे पास सात गेंदबाज हो जाते हैं। मैं आश्वस्त हूं कि हमारे पास सबसे संतुलित टीम है।”

टीम में हालांकि चौथे तेज गेंदबाज को लेकर खलील अहमद और नवदीप सैनी पर भी चर्चा की गई थी।