पुलवामा हमले के खिलाफ एकजुट हुए कई देश, यूएन मुख्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन

यूएन मुख्यालययूएन मुख्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन

न्यूयॉर्क । भारत समेत कई देशों के लोगों ने संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय के बाहर पुलवामा हमले के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया ।  इनकी मांग है कि आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले पाकिस्तानी नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की जाए और इस्लामाबाद पर हथियार प्रतिबंध लगाया जाए ।  इस विरोध प्रदर्शन में अमेरिका, बांग्लादेश, कैरेबियाई देशों, श्रीलंका और इजरायल के साथ-साथ पाकिस्तान के बलूचिस्तान के 400 से ज्यादा लोग शामिल हुए। 

प्रदर्शनकारियों ने हाथ में पोस्टर लिया हुआ था जिसपर दुनिया भर में अलग अलग जगहों पर हुए आतंकवादी हमलों का ज़िक्र था । पुलवामा से न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वेयर और मुंबई से लंदन तक हुए इन आतंकी हमलों के तार पाकिस्तान से जुड़ते आए हैं ।

अल कायदा, लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद, हक्कानी नेटवर्क, तालिबान जैसे आतंकवादी संगठनों के नाम भी विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों ने पोस्टर पर लिख रखे थे । ये आतंकवादी संगठन पाकिस्तान में रहकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी गतिविधियां संचालित करते हैं। 

प्रदर्शनकारी संयुक्त राष्ट्र में ज्ञापन देकर पाकिस्तान को आतंकवादी देश और जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अज़हर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने की मांग करेंगे । ओवरसीज फ्रेंड्स ऑफ बीजेपी के अध्यक्ष कृष्णा रेड्डी अनुगुला ने कहा कि महासचिव एंटोनियो गुटेरेस को ज्ञापन भेजा जाएगा।

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को आत्मघाती धमाके की जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी । इस आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। 

आईएएनएस इनपुट के साथ