बारिश से नेपाल में भारी तबाही, 50 से ज्यादा सड़कें,पुल ध्वस्त

Nepal FloodPhoto Credit: UNICEF Nepal

काठमांडू बीते दिनों नेपाल में हुई भारी बारिश ने बड़े पैमाने पर तबाही मचाई है। इस दौरान करीब 90 लोगों ने अपनी जान गंवा दी। अधिकारियों के अनुमान के मुताबिक देश के पुन:निर्माण के लिए और इसे फिर से बसाने के लिए करीब 22 करोड़ रुपये की जरूरत है।

द काठमांडू पोस्ट की सोमवार को जारी की गई रिपोर्ट के मुताबिक, बाढ़ और भूस्खलन से जुलाई के दूसरे हफ्ते में देश के पूर्वी हिस्सों में बड़े पैमाने पर तबाही हुई है। सड़क विभाग के शुरुआती अनुमानों के अनुसार, संरचनाओं को ठीक करने और पुनर्वास की लागत लगभग 22 करोड़ रुपये होगी।

लगातार हुई बारिश से आई आपदा में 50 से ज्यादा सड़कें और पुल ध्वस्त हो गए हैं। सड़क विभाग के प्रवक्ता शिव हरी सपकोटा ने कहा, “बारिश का दौर जारी है, ऐसे में आने वाले दिनों में और कई संरचनाओं के ध्वस्त होने की आशंका है।”

बिहार में बाढ़ का संकट गहराया, अब तक 102 लोगों की मौत

उन्होंने आगे कहा, “देश के पश्चिमी हिस्सों में हालांकि ज्यादा बारिश नहीं हुई है, लेकिन फिर भी हमें संभावित नुकसान के लिए तैयार रहना चाहिए।”

विभाग ने बताया कि राजमार्ग और सड़कों की हालत खराब हो चुकी है, ऐसे में बिना मरम्मत हम उस पर परिवहन की मंजूरी देते हैं तो वाहनों की आवाजाही से दुर्घटना होने का खतरा है।

देश में हर साल मॉनसून के दौरान बाढ़ से सड़कें और पुल ध्वस्त हो जाते हैं।

द काठमांडू पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार, सड़क विभाग ने बताया कि हर साल सड़क और पुल के रखरखाव पर करीब 40 से 50 लाख रुपये का खर्च आता है।