बिहार बाढ़: दरभंगा-समस्तीपुर रेलखंड पर रेलगाड़ियों का परिचालन ठप

Bihar Flood rail track near DarbhangaPhoto Credit: Twitter AIR

पटना। बिहार के उत्तरी हिस्से के 13 जिलों में बाढ़ का कहर अब भी जारी है। बागमती में पानी का स्तर बढ़ जाने से दरभंगा-समस्तीपुर रेलवे रूट पर पानी बढ़ा हुआ है और लगातार दूसरे दिन रेलगाड़ियों का परिचालन ठप है ।

पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार के मुताबिक समस्तीपुर-दरभंगा रेलखंड के हायाघाट और थलवाड़ा स्टेशनों के बीच पुल संख्या 16 पर बाढ़ का पानी खतरे के निशान से ऊपर पहुंच जाने की वजह से इस रेलखंड पर रविवार से ही रेलगाड़ियों का परिचालन रोक दिया गया है।

बाढ़ से बेहाल बिहार में अब तक 127 की मौत 82 लाख लोग प्रभावित

उन्होंने कहा कि इस रेलखंड से गुजरने वाली 11 रेलगाड़ियों को रद्द कर दिया गया, जबकि 11 रेलगाड़ियों के मार्ग में आंशिक परिवर्तन किया गया है ।

Bihar Flood Bridge number 16

Photo Credit: Twitter AIR

हालांकि राज्य के दूसरे इलाकों में नदियों के जलस्तर में कमी आई है,  लेकिन कई प्रमुख नदियां अभी भी खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं जिसकी वजह से कई क्षेत्रों से बाढ़ का पानी उतरा है वहीं कई नए इलाकों में बाढ़ का पानी फैल भी रहा है।

विभाग के एक अधिकारी के मुताबिक, “बागमती नदी कटौंझा, हायाघाट और बेनीबाद में खतरे के स्थान से ऊपर बह रही है। जबकि बूढ़ी गंडक रोसड़ा रेल पुल के पास खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। इसके अलावा कमला बलान झंझारपुर पुल के पास खतरे के निशान से ऊपर है। अधवारा समूह की नदियां और खिरोई नदी भी कई स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही है।”

बिहार पुलों के लिए बनेगा ‘हेल्थ कार्ड’, ‘मेंटनेंस पॉलिसी’

बिहार के आपदा प्रबंधन विभाग के एक अधिकारी के मुताबिक राज्य के शिवहर, सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, मधुबनी, दरभंगा, सहरसा, सुपौल, किशनगंज, अररिया, पूर्णिया, कटिहार और पश्चिम चंपारण समेत 13 जिलों में बाढ़ का पानी बना हुआ है। इस बाढ़ से अब तक 127 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 85 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं।

इस बीच कई इलाकों में राहत शिविर बंद कर दिए जाने से लोग काफी परेशान हैं। बाढ़ प्रभावित दरभंगा के जिलाधिकारी त्यागराजन एस़ एम़ ने बताया कि जिले के 17 प्रखंडों में बाढ़ का पानी फैला हुआ है, तथा बाढ़ पीड़ितों के लिए 527 सामुदायिक रसोई चलाई जा रही हैं।