बिहार बाढ़: मधुबनी के नरुआर गांव में सैकड़ों घर हुए ज़मींदोज़

flooded village in Biharबिहार के गांव में बाढ़ का कहर

पटना । बिहार में बाढ़ ने जो कहर बरपाया है उससे हज़ारों लोग बेघर हो चुके हैं । बाढ़ प्रभावित 12 जिलों में एक मधुबनी भी है। मधुबनी के कई गांव के हालात खराब हैं लेकिन नरुआर गांव में भीषण तबाही मची है।

नरुआर गांव में बाढ़ ने कच्चे मकानों के साथ-साथ पक्के मकानों को भी अपनी चपेट में लिया है करीब 50 पक्के और 700 कच्चे मकान ज़मींदोज़ हो गए हैं ।

बाढ़ के बाद एनडीआरएफ की टीम इस गांव में पहुंची लेकिन गांव के लोग तकरीबन 5 दिन बाद भी सरकारी मदद की आस लगाए बैठे हैं ।

बिहार में बाढ़ की विनाशलीला जारी, 78 लोगों की मौत

पिछले साल तटबंध के 7 किलोमीटर के क्षेत्र मरम्मति पर 84 लाख रुपये खर्च किए गए थे। जल संसाधन विभाग के निचले स्तर के अधिकारियों ने इस साल भी मरम्मति का सुझाव दिया था लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ और बाढ़ आते ही तटबंध ऐसा टूटा कि गांव में सिर्फ बर्बादी के निशान बचे हुए हैं।

बाढ़ का पानी अब कम होने लगा है लेकिन मुसीबतें कम नहीं हो रही हैं। बाढ़ की वजह से इस गांव के दो लोगों की मौत हुई है। वहीं मधुबनी जिले में कुल 14 लोग जान गंवा चुके हैं।