बीजेपी में शामिल हुईं जया प्रदा, रामपुर से लड़ सकती हैं चुनाव

जया प्रदा

नई दिल्ली| समाजवादी पार्टी की पूर्व नेता जया प्रदा भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गई हैं । कयास लगाए जा रहे हैं कि जया प्रदा रामपुर से चुनाव लड़ेंगीं । अगर ऐसा हुआ तो इस सीट पर जया का मुकाबला उनके घोर विरोधी आज़म खान से होगा। समाजवादी पार्टी ने रामपुर सीट आज़म खान को अपना उम्मीदवार बनाया है ।

2014 का लोकसभा चुनाव आरएलडी की सीट से लड़ चुकीं जया प्रदा इस बार बीजेपी से अपनी किस्मत आजमाएंगी । पार्टी के वरिष्ठ नेता  बीजेपी महासचिव भूपेंद्र यादव और राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी की मौजूदगी में जया प्रदा ने बीजेपी का दामन थामा।

इससे पहले दो बार जयाप्रदा रामपुर का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं । साल 2004 और 2009 में जयाप्रदा ने बतौर समाजवादी उम्मीदवार रामपुर लोकसभा सीट पर जीत दर्ज की थी । जयाप्रदा ने दोनों ही बार कांग्रेस की नूर बानो को शिकस्त दी थी। 2014 में ये सीट बीजेपी के खाते में चली गई और इस सीट से निवर्तमान सांसद डॉ नेपाल सिंह हैं ।

उत्तर प्रदेश: जानिए कब है आपके क्षेत्र में मतदान

टीडीपी से जया की राजनीति की शुरुआत

जयाप्रदा ने राजनीति की शुरुआत 1994 में की थी । जयाप्रदा ने तेलुगु देशम पार्टी से राजनीति में कदम रखा था । 1996 में जयाप्रदा आंध्र प्रदेश से राज्यसभा सदस्य बनीं । हालांकि चंद्रबाबू नायडु से मतभेद के बाद जयाप्रदा ने तेलुगु देशम पार्टी छोड़ दी । बाद में जयाप्रदा समाजवादी पार्टी में शामिल हो गईं । 2010 में जया प्रदा का समाजवादी पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था । जयाप्रदा पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल रहने के आरोप लगे थे ।

राज बब्बर इस बार फतेहपुर सीकरी से लड़ेंगे चुनाव

जब जया की पार्टी के सभी उम्मीदवार हार गए चुनाव 

बाद में जयाप्रदा ने अमर सिंह के साथ मिलकर राष्ट्रीय लोकमंच के नाम से अपनी पार्टी बना ली थी । 2012 विधानसभा चुनाव में जयाप्रदा-अमर सिंह की पार्टी ने 360 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे लेकिन इनका एक भी उम्मीदवार चुनाव नहीं जीत सका। 2014 में जया अमर सिंह के साथ राष्ट्रीय लोकदल में शामिल हो गईं । आरएलडी के टिकट पर जयाप्रदा ने 2014 का लोकसभा चुनाव बिजनौर से लड़ा लेकिन हार गईं ।

आईएएनएस इनपुट के साथ