बुंदेलखंड में कांग्रेस के लिए पूरी ताकत से जुटी हैं प्रियंका गांधी

प्रियंका गांधीPhoto Credit: Twitter UP Congress

झांसी। लंबे समय से बुंदेलखंड में जीत की आस लगाए कांग्रेस के लिए प्रियंका गांधी ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है । 29 अप्रैल को बुंदेलखंड के झांसी, जालौन और हमीरपुर में मतदान होना है, इससे पहले प्रियंका गांधी इन इलाकों में एक के बाद एक बैठकें और रोड शो कर रही हैं।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने झांसी में एक चुनावी जनसभा संबोधित करने से पहले एक भव्य रोड शो किया। प्रियंका ने सिंधी चौराहे पर पार्टी कार्यालय से रोड शो शुरू कर दिया। मानिक चौक, बड़ा बाजार, सुभाष गंज, तलैया और ओरझा दरवाजा होते हुए प्रियंका का रोड शो इवाट बाजार क्षेत्र में खत्म हुआ हुआ।

रोड शो के दौरान, प्रियंका छह कुंड महादेव मंदिर भी गईं।

झांसी से पार्टी के लोकसभा उम्मीदवार शरण कुशवाह भी रोड शो के दौरान उनके साथ मौजूद थे।
प्रियंका गांधी की एक झलक पाने के लिए कांग्रेस के हजारों कार्यकर्ता मौजूद थे। ये कार्यकर्ता  कांग्रेस नेता के समर्थन और भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे।

प्रियंका गांधी, गुरसराय

Photo Credit: Twitter UP Congress

बुंदेलखंड में गूंजा नारा, ‘गांव-गांव तालाब बनेगा, तभी हमारा वोट मिलेगा’

प्रियंका गांधी ने कुछ बच्चों को रोड शो के दौरान अपनी गाड़ी पर सवारी भी करवाई। उन पर फूल भी बरसाए गए।

रोड शो के बाद प्रियंका गांधी ने झांसी के गुरुसराय और जालौन के ऊरई में बैठक भी की ।

झांसी में 29 अप्रैल को चौथे चरण के तहत चुनाव होंगे। उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से अब तक 26 सीटों पर पहले तीन चरणों में चुनाव हो चुके हैं और बाकी 54 सीटों पर आगामी चार चरणों में चुनाव होंगे।

प्रियंका गांधी, उरई, जालौन

Photo Credit: Twitter UP Congress

प्रियंका ने बुधवार को बुंदेलखंड के महोबा में एक रोड शो किया था ।

उत्तर प्रदेश में बुंदेलखंड के तहत आने वाली सभी 4 लोकसभा सीटों और 19 विधानसभा सीटों पर बीजेपी का कब्जा है । पिछले चुनाव में ज्यादातर जगहों पर बीजेपी के बाद दूसरे नंबर पर एसपी या बीएसपी के उम्मीदवार थे । इस बार एसपी और बीएसपी गठबंधन में चुनाव लड़ रही है । इससे बीजेपी के लिए मुश्किलें हो सकती हैं । हालांकि कांग्रेस की तरफ से प्रियंका के प्रचार में ताकत झोंकने के बाद पार्टी को हालात बेहतर होने की उम्मीद जगी है। ऐसे में यहां ज्यादातर सीटों पर त्रिकोणीय मुकाबला होता दिखाई दे रहा है।