भारतीय वायुसेना ने अमेरिकी रिपोर्ट को किया खारिज

भारतीय वायुसेना ने अमेरिकी पत्रिका में आई उस रिपोर्ट को सिरे से खारिज कर दिया है जिसमें कहा गया है कि एक भी पाकिस्तानी एफ-16 लापता नही हैं ।

नई दिल्ली| भारतीय वायुसेना ने अमेरिकी पत्रिका में आई उस रिपोर्ट को सिरे से खारिज कर दिया है जिसमें कहा गया है कि एक भी पाकिस्तानी एफ-16 लापता नही हैं ।

अमेरिकी पत्रिका डिफेंस पॉलिसी में अनाम अधिकारियों के हवाले से आई रिपोर्ट में दावा किया गया था कि अमेरिका की तरफ से जांच की गई है और पाकिस्तानी बेड़े में एक भी फाइटर प्लेन गायब नहीं है ।

भारतीय वायुसेना ने मैगज़ीन में किए गए दावों को खारिज करते हुए कहा कि हमले के दौरान एयरबॉर्न अर्ली वार्निंग एंड कंट्रोल सिस्टम ने पाकिस्तानी एफ-16 की तस्वीरों को कैप्चर किया था। वायुसेना के इलेक्ट्रॉनिक सिग्नेचर से साफ है कि पाकिस्तानी एफ-16 मार गिराया गया था।

अमेरिका ने एफ-16 पर जांच कर पाकिस्तान को दिया बड़ा झटका

मामला 27 फरवरी का है, जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर कार्रवाई के बाद पाकिस्तान ने भारत के सैन्य ठिकानों पर हमले के लिए अपने लड़ाकू विमान एफ-16 का इस्तेमाल किया था । पहले से मुस्तैद भारतीय सेना ने जवाबी कार्रवाई की थी और एक एफ-16 को मार गिराया था । इसमें भारत का लड़ाकू विमान मिग भी पाक अधिकृत कश्मीर में गिरा था ।

अमेरिकी मैगज़ीन की रिपोर्ट के खिलाफ भारतीय वायुसेना ने दावा किया है कि उनके पास पाकिस्तानी एफ-16 के नौशेरा सेक्टर में मार गिराने के सबूत हैं । सेना ने 27 फरवरी को दो अलग-अलग जगहों पर इजेक्शन होते हुए देखा जिनके बीच आठ-दस किलोमीटर की दूरी थी। इनमें से एक भारतीय वायुसेना का मिग-21 बिसोन था और एक पाकिस्तानी वायुसेना का विमान एफ-16 था।