कोरोना संक्रमण पर 9 राज्यों को लेकर केंद्र सतर्क, जल्द परीक्षण और तत्काल इलाज की सलाह  

आईसीएमआर के कहा- देश में कोरोना संक्रमण मालमे बढ़ने की दर को रोकने में मिली कामयाबीPhoto Credit : Twitter Tourism Minister Kerala

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं और ताज़ा आँकड़ों पर नज़र डालें तो यह संख्या 13,36,861 पर पहुँच गई है, हालाँकि कोरोना के सक्रिय मामले 4,56,071 हैं जबकि 8,49431 लोग इलाज के बाद ठीक हो गए हैं। अभी तक इस महामारी की वजह से 31,358 लोगों की मौत हो चुकी है।

इधर, केंद्र सरकार ने तेलंगाना, आंध्र, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, ओडिशा, पश्चिम बंगाल और असम को जल्द से जल्द परीक्षण बढ़ाने, कंटेनमेंट प्लान का कड़ाई से पालन करने, स्वास्थ्य ढाँचे को बढ़ाने और इलाज के समुचित प्रबंध सुनिश्चित करने की सलाह दी है। हालाँकि, केंद्र और राज्यों के प्रयासों की वजह से देश में ठीक होने वालों की तादाद बढ़ रही है। इसके साथ ही मृत्यु दर में भी गिरावट आ रही है।

इन सभी प्रयासों के बीच कुछ राज्य ऐसे हैं, जहाँ हाल के दिनों में रोजाना सक्रिय मामलों की संख्या में काफी बढ़ोतरी हुई है। कोविड-19 महामारी के प्रभावी नियंत्रण और प्रबंधन के लिए केंद्र-राज्य की समन्वित रणनीति के हिस्से के रूप में, कैबिनेट सचिव ने देश में इस समय सबसे ज्यादा बढ़ रहे सक्रिय मामलों वाले इन 9 राज्यों के मुख्य सचिवों और स्वास्थ्य सचिवों के साथ एक उच्चस्तरीय वर्चुअल समीक्षा बैठक की।

‘टेस्ट ट्रैक ट्रीट’ रणनीति को ध्यान में रखते हुए, राज्यों को कंटेनमेंट जोन पर विशेष ध्यान देते हुए परीक्षण बढ़ाने की सलाह भी दी गई है। कुछ राज्यों में कम परीक्षण को लेकर चिंता भी जताई गई। यह दोहराया गया कि मामलों की जल्द पहचान और संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए निरंतर और युद्ध स्तर पर परीक्षण महत्वपूर्ण हैं।

राज्यों को सलाह दी गई कि वे राज्यभर में स्वास्थ्य ढाँचे की उपलब्धता- जैसे अपेक्षित संख्या में बिस्तर, ऑक्सीजन और वेंटिलेटर आदि पर विशेष ध्यान दें। साथ ही क्लिनिकल प्रोटोकॉल का पालन हो जिससे देखभाल की गुणवत्ता और लगातार मरीजों का प्रबंधन सुनिश्चित किया जा सके।