मध्य प्रदेश में कोरोना के 33 मामले, अतिआवश्यक सेवाओं में जुटे लोगों से मिलने पहुँचे शिवराज  

मध्य प्रदेश में कोरोना के 33 मामले, अतिआवश्यक सेवाओं में जुटे लोगों से मिलने पहुँचे शिवराज  

भोपाल । मध्य प्रदेश में हर दिन कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या में इज़ाफ़ा होते जा रहा है, ताज़ा जानकारी के मुताबिक राज्य में अब तक कोरोना से प्रभावित लोगों की तादाद 33 पर पहुँच गई है, जबकि इस बीमारी की वजह से अब तक 2 लोगों की जान भी जा चुकी है।

कोरोना संकट के बीच मध्य प्रदेश की कमान सँभालने वाले शिवराज सिंह चौहान का मानना है कि मौजूदा समय में कोरोना महामारी का संकट बड़ा है, लेकिन उनका कहना है कि हमारा हौसला उससे भी बड़ा है।

अतिआवश्यक सेवाओं में जुटे लोगों की हौसलाअफ़जाई

संकट की घड़ी में अति आवश्यक सेवाओं में जुटे लोगों की हौसलाअफ़जाई के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान राजधानी भोपाल में इनके बीच जा पहुँचे। शिवराज ने सब्जी और फलविक्रेताओं के साथ ही सफाईकर्मियों से भी मुलाकात की और हाथ जोड़कर उनका अभिवादन किया। मुख्यमंत्री ने अपने कर्तव्यों का पालन करने के लिए अति आवश्यवक सेवाओं में जुटे सभी लोगों का आभार भी जताया। शिवराज सिंह चौहान ने इन सभी लोगों को अपना ख्याल रखने की हिदायत भी दी।

आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के सभी गरीब भाई-बहनों के लिए भोजन आदि आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी। शिवराज सिंह चौहान का कहना है कि फल, सब्जी समेत खाद्य सामग्री,  दवाइयों एवं अन्य सामग्री लाने-ले-जाने वाले वाहनों पर कोई रोक नहीं है। उन्होंने निर्देश दिए कि दवाओं और किराना दुकानों के खुलने पर कोई रोक नहीं है। चाहे ग्राम हो या शहर, कलेक्टर इनका खुलना सुनिश्चित करें।

कोरोना संकट हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का कहना है कि कोरोना वायरस के संकट को समाप्त करना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि सरकार इस संकट से निपटने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेगी।

सोशल मीडिया की मदद

फेसबुक पर चर्चा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सोशल मीडिया के माध्यम से भी लोगों से जुड़कर उनकी परेशानियों को जानने की कोशिश कर रहे हैं। इस संबंध में मुख्यमंत्री 29 मार्च को सायं साढ़े पाँच बजे कोरोना महामारी से निपटने को लेकर प्रदेश के लोगों से चर्चा भी करेंगे।