देवेंद्र का मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा, बीजेपी-शिवसेना की एक दूसरे के ख़िलाफ़ निकली भड़ास

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल बी एस कोश्यारी को इस्तीफा सौंप दिया। विधानसभा चुनाव में बीजेपी और शिवसेना गठबंधन को बहुमत तो हासिल हो गया था लेकिन मुख्यमंत्री पद को लेकर शिवसेना की 50-50 फार्मूले को लेकर शुरू खींचतान अब तक नहीं थमी।FILE PHOTO

मुंबई । महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल बी एस कोश्यारी को इस्तीफा सौंप दिया। विधानसभा चुनाव में बीजेपी और शिवसेना गठबंधन को बहुमत तो हासिल हो गया था लेकिन मुख्यमंत्री पद को लेकर शिवसेना की 50-50 फार्मूले को लेकर शुरू खींचतान अब तक नहीं थमी। बीजेपी और शिवसेना जिस तरह एक दूसरे के ख़िलाफ़ भड़ास निकाल रहे हैं, उसे देखते हुए लगता है कि यह गठबंधन अब पूरी तरह टूट की कगार पर पहुँच गया है।

इधर, महाराष्ट्र विधानसभा का कार्यकाल 9 नवंबर तक ही है और इस बीच अगर राज्य में कोई सरकार गठिन नहीं होती है तो राष्ट्रपति शासन ही एकमात्र विकल्प रह जायेगा।

हालाँकि, महाराष्ट्र में इस वक्त राजनीतिक सरगर्मी ज़ोरों पर है। शिवसेना नेता संजय राउत ने एनसीपी प्रमुख शरद पवार से फिर एक बार मुलाकात की। इधर, इस्तीफे के बाद संवाददाताओं से बात करते हुए देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि ढाई-ढाई साल मुख्यमंत्री रहने के विषय पर मेरे सामने कभी शिवसेना से बातचीत नहीं हुई। इतना ही नहीं, देवेंद्र फडणवीस ने यह भी कहा कि हमें भी शिवसेना की भाषा में जवाब देना आता है।

इधर,  देवेंद्र फडणवीस की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने भी संवादददाताओं के सामने अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि मुझे गलत लोगों के साथ गठबंधन का अफसोस है।

मैंने बाला साहब ठाकरे से शिवसेना का मुख्यमंत्री बनाने का वादा किया था और ऐसा करने के लिए मुझे शाह या फडणवीस की ज़रूरत नहीं है।

शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने यह भी कहा कि हम डिप्टी सीएम के पद पर तैयार नहीं हैं। वादा मुख्यमंत्री का हुआ था तो मुख्यमंत्री ही मिलना चाहिए। आप महबूबा मुफ्ती, नीतीश कुमार जैसे लोगों के साथ सरकार चला सकते हैं और हमारे साथ सरकार चलाने में दिक्कत है। (आईएएनएस इनपुट के साथ)