राजनीतिक गर्मी वाली दिल्ली ठंड से ठिठुरी, हिमाचल में पारा शून्य से नीचे

राजनीतिक गर्मी वाली दिल्ली ठंड से ठिठुरी, हिमाचल में पारा शून्य से नीचे

नई दिल्ली । राजनीतिक गर्मी वाली दिल्ली ठंड से ठिठुर गई है। दिल्ली में शनिवार को लोधी रोड क्षेत्र में सुबह 8.30 बजे 1.7 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया, जिसे सर्दी के इस सीजन का सर्वाधिक ठंडा दिन माना जा रहा है। मौसम विज्ञान विभाग का कहना है कि शुक्रवार सुबह सफदरजंग क्षेत्र में 2.4 डिग्री सेल्सियस, पालम में 3.1 डिग्री सेल्सियस और आया नगर में 1.9 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया है। इधर, हिमाचल प्रदेश के कई इलाकों में पारा शून्य से नीचे पहुँच गया है।
मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि दिल्ली एनसीआर में साल 1901 के बाद इस दिसंबर में सबसे अधिक ठंड पड़ रही है। अधिकारियों ने कहा कि 30 दिसंबर, 2013 को दिल्ली के सफदरजंग का तापमान 2.4 डिग्री सेल्सियस और 11 दिसंबर, 1996 को 2.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।
मौसम विज्ञान विभाग ने यह भी कहा कि इस बार राष्ट्रीय राजधानी में 31 दिसंबर को नए साल की पूर्व संध्या पर तापमान में और गिरावट आ सकती है और उत्तर भारत के पहाड़ी क्षेत्रों और कश्मीर घाटी में बर्फबारी हो सकती है। विभाग ने चेतावनी दी है कि आगामी 10 दिनों में शीत लहर तेज हो सकती है।

हिमाचल में पारा शून्य से नीचे

हिमाचल प्रदेश में शीतलहर जारी है। राज्य के ऊँचाई वाले पहाड़ी इलाकों में पारा शून्य से नीचे पहुँच गया है। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने समाचार एजेंसी आईएएनएस को बताया कि शिमला में न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ, जबकि शुक्रवार को यहाँ तापतान 3.8 डिग्री सेल्सियस था।
लाहौल एवं स्पीति ज़िले के केलांग और किन्नौर ज़िले के कल्पा में क्रमश: शून्य से 11.5 डिग्री सेल्सियस नीचे और शून्य से 1.8 डिग्री सेल्सियस नीचे तापमान दर्ज हुआ। चंबा जिले के डलहौजी में तापमान 5.1 डिग्री दर्ज किया गया, जबकि मनाली में यह 26 डिग्री सेल्सियस रहा। धर्मशाला में रात का तापमान 2.2 डिग्री सेल्सियस था। मौसम विभाग की माने तो 31 दिसंबर से राज्य भर में बारिश और बर्फबारी की संभावना है। (आईएएनएस इनपुट के साथ)