राफेल मामले में प्रधानमंत्री की भूमिका की जांच हो : राहुल

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधीकांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी

नई दिल्ली । राफेल का मामला कांग्रेस अपने हाथ से नहीं जाने देना चाहती । कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर सवाल उठाए हैं कि प्रधानमंत्री राफेल मामले की जांच से क्यों डर रहे हैं ।

राफेल सौदे से संबंधित दस्तावेजों की चोरी की जांच की केंद्र की धमकी के बाद से सियासत गरमाई हुई है।
राहुल गांधी ने कहा है कि चोरी हुए दस्तावेजों साफ तौर पर बताते हैं कि जेट की डिलीवरी में देरी और उसकी कीमत बढ़ने के लिए प्रधानमंत्री जिम्मेदार थे। 

राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर सवाल उठाते हुए कहा कि, “सरकार अब कहती है कि राफेल फाइलें चोरी होने के लिए मीडिया की जांच करेगी, लेकिन जिसने समानांतर बातचीत की, उसकी जांच क्यों नहीं होगी।” 

राहुल ने आरोप लगाया है कि अगर दस्तावेज चोरी हुए हैं तो इसका मतलब है कि आरोप सच है और प्रधानमंत्री ने जेट के संबंध में बात की है। राहुल ने कहा कि “दस्तावेजों के बारे में जांच होने दें लेकिन साथ ही राफेल में प्रधानमंत्री की भूमिका की भी जांच करें।”

सुप्रीम कोर्ट ने 14 दिसंबर को राफेल जेट की खरीद पर केंद्र सरकार को ‘क्लीन चिट’ दे दिया था। राहुल ने आरोप लगाते हुए कहा था कि सरकार और इसकी मशीनरी का एकमात्र उद्देश्य चौकीदार को बचाना है। राहुल ने संयुक्त संसदीय समिति जांच की मांग पर कहा कि मोदी सौदे की जांच से क्यों डर रहे हैं।

राहुल गांधी ने राफेल से जुड़े दस्तावेज़ों का हवाला देते हुए आरोप लगाए कि प्रधानमंत्री ने राफेल की खरीद फरोख्त में अपने उद्योगपति मित्र को फायदा पहुंचाने के लिए समानांतर बातचीत की थी ।

आईएएनएस इनपुट के साथ