राहुल गांधी की सफाई, कहा कश्मीर भारत का अभिन्न अंग

Rahul Gandhi on Congress

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को सरकार के इस रुख का समर्थन किया कि कश्मीर भारत का आंतरिक मुद्दा है। उन्होंने कहा कि इसमें पाकिस्तान या किसी अन्य देश के हस्तक्षेप के लिए कोई जगह नहीं है।

राहुल गांधी इस समय जम्मू कश्मीर पर दिए गए अपने बयान को लेकर विवादों में हैं। राहुल गांधी ने पहले ये कहा था कि जम्मू कश्मीर से हिंसा की खबरें आ रही हैं। राहुल गांधी के इस बयान का इस्तेमाल पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ किया है लिहाजा, राजनीतिक दलों से लेकर सोशल मीडिया तक राहुल गांधी की निंदा की जा रही है।

कश्मीर मुद्दे पर ट्रंप को मोदी की दो टूक, कहा भारत-पाक के सभी मुद्दे द्विपक्षीय

इस निंदा के बाद ही राहुल गांधी ट्वीट के जरिए अपनी सफाई दी है। अपने ससंदीय क्षेत्र वायनाड में मौजूद कांग्रेस सांसद ने ट्वीट किया, “मैं कई मुद्दों पर इस सरकार से असहमत हूं। लेकिन, मैं यह पूरी तरह से स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि कश्मीर भारत का आंतरिक मुद्दा है और इसमें पाकिस्तान या किसी भी अन्य देश के हस्तक्षेप के लिए कोई जगह नहीं है।”

उन्होंने आगे कहा, “जम्मू-कश्मीर में हिंसा है। वहां इसलिए हिंसा है, क्योंकि इसे पाकिस्तान भड़काया है, जिसे दुनिया भर में आतंकवाद का प्रमुख समर्थक माना जाता है।”

पाकिस्तान सरकार और उसके कई मंत्रियों ने कश्मीर के मुद्दे का अंतर्राष्ट्रीयकरण करने के लिए कांग्रेस नेताओं के मीडिया बाइट्स और ट्वीट का भी सहारा लिया है।

पाकिस्तानी सेना की भारत को गीदड़ भभकी

राहुल गांधी के तुरंत बाद, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने कहा कि कांग्रेस ने एकजुट होकर जोर देकर कहा है कि कश्मीर भारत और पार्टी का अभिन्न अंग है। पार्टी ने केवल उस तरीके का विरोध किया, जिस तरह से अनुच्छेद 370 को निरस्त किया गया था।

उन्होंने पाकिस्तान को कांग्रेस के रुख से कोई सहारा नहीं तलाशने के लिए कहा।

थरूर ने ट्वीट किया, “स्पॉट ऑन, चीफ! यह वही है, जिसकी कांग्रेस ने एकसुर से वकालत की है, जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। जिस तरह से अनुच्छेद 370 को निरस्त किया गया था, उसका हमने विरोध किया, क्योंकि जिस तरह से यह किया गया, यह हमारे संविधान और लोकतांत्रिक मूल्यों पर हमला था। पाकिस्तान के लिए हमारे रुख से किसी भी प्रकार की तसल्ली मिलने का कोई कारण नहीं।

राहुल गांधी से पहले, पार्टी के कई वरिष्ठ नेता जैसे ज्योतिरादित्य सिंधिया, जनार्दन द्विवेदी, हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा, उनके बेटे दीपेंद्र हुड्डा, उत्तर प्रदेश की विधायक अदिति सिंह, मिलिंद देवड़ा, अनिल शास्त्री और अन्य ने अनुच्छेद 370 को रद्द करने के सरकार के फैसले के समर्थन में बोला था।

अनुच्छेद 370 हटाने के समर्थन में आए कांग्रेस नेताओं ने दी ये दलील

कांग्रेस ने बुधवार को पाकिस्तान को लताड़ लगाते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख भारत का अभिन्न अंग थे और रहेंगे।

पार्टी नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने एक बयान में कहा कि कांग्रेस ने पाकिस्तान सरकार की उन रपटों पर गौर किया है, जिनमें कथित रूप से संयुक्त राष्ट्र में जम्मू-कश्मीर की याचिका शामिल है, जिसमें पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम शामिल है।

राहुल गांधी को पाकिस्तान की तरफ से फैलाए जा रहे झूठ और जानबूझकर गलत सूचना को सही ठहराने के लिए घसीटा गया है। दुनिया में किसी को भी संदेह नहीं होना चाहिए कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख भारत के अभिन्न अंग हैं और हमेशा रहेंगे।

उन्होंने कहा कि इसके बजाय, पाकिस्तान को पीओके-गिलगित-हुंजा-बाल्टिस्तान में मानवाधिकारों के अनुचित और अमानवीय उल्लंघन के बारे में दुनिया को जवाब देना चाहिए।