रोहित शेखर की हत्या मामले में पत्नी अपूर्वा गिरफ्तार

रोहित शेखर

नई दिल्ली। रोहित शेखर की हत्या के मामले में उनकी पत्नी अपूर्वा को गिरफ्तार किया गया है । अपूर्वा पेशे से वकील हैं और सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस करती हैं ।

इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच कर रही है। क्राइम ब्रांच ने अपूर्वा को दक्षिण दिल्ली के उसके घर से गिरफ्तार कर लिया।

एफएसएल रिपोर्ट और सबूतों के मुताबिक अपूर्वा ने ही रोहित शेखर की हत्या की है। एडिशनल पुलिस कमिश्नर राजीव रंजन के मुताबिक अपूर्वा ने पति की हत्या करने की बात मान ली है। अपूर्वा ने कहा कि शादीशुदा जिंदगी में खुश नहीं होने की वजह से उसने ये कदम उठाया ।

अधिकारी ने कहा कि मामले की शुरुआत में अपूर्वा ने क्राइम ब्रांच की टीम को भटकाने की कोशिश की थी। क्राइम ब्रांच के मुताबिक अपूर्वा ने 16 अप्रैल को रोहित के कमरे में घुसकर वारदात को अंजाम दिया, बाद में सबूतों को मिटा दिया। अपूर्वा ने महज डेढ़ घंटे में पूरे काम को अंजाम दिया ।

कौन हैं रोहित शेखर ?

रोहित शेखर उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रह चुके एन डी तिवारी के बेटे हैं । एनडी तिवारी कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं में से एक थे, पिछले साल अक्टूबर में इनका निधन हो गया था। रोहित शेखर पहली बार चर्चा में तब आए थे जब उन्होंने एन डी तिवारी को अपना पिता कहते हुए अपनाने की मांग की थी । तब तक रोहित शेखर की मां उज्जवला शर्मा और एन डी तिवारी शादी के बंधन में नहीं बंधे थे। एन डी तिवारी के रोहित को अपना बेटा नहीं मानने पर ये मामला अदालत में चला गया था । डीएनए के मिलान में रोहित शेखर की बात सही साबित हुई थी जिसके बाद एन डी तिवारी को रोहित को अपनाना पड़ा था । 2014 में ना सिर्फ एन डी तिवारी ने ये माना कि रोहित शेखर उनके बेटे हैं बल्कि उन्होंने उज्जवला शर्मा से शादी भी कर ली । शादी के वक्त एनडी तिवारी की उम्र 88 साल थी । रोहित शेखर की उस वक्त लगभग 34 साल के थे ।

रोहित शेखर ने 2017 में बीजेपी का दामन थाम लिया था हालांकि इससे पहले समाजवादी पार्टी की सरकार में रोहित को उत्तर प्रदेश में राज्यमंत्री का दर्जा मिला हुआ था ।