वायुसेना ने विजय दिवस पर कारगिल के शहीदों को दी श्रद्धांजलि

Photo Credit: Twitter All India Radio

नई दिल्ली। वायुसेना प्रमुख बी एस धनोवा और पश्चिमी कमान के प्रमुख रघुनाथ नांबियार ने कारगिल विजय दिवस पर कारगिल युद्ध के शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

वायुसेना के इन दोनों शीर्ष अधिकारियों ने एक स्मारक विमान में सवार होकर कारगिल युद्ध शहीद स्क्वैड्रन लीडर अजय आहुजा को श्रद्धांजलि दी।

धनोवा और नांबियार सोमवार को बठिंडा में करतब दिखाने वाले उस विमान में सवार हुए जिसने ‘मिसिंग मैन’ की आकृति बनाई। ये आकृति अजय आहुजा को श्रद्धांजलि देने के लिए बनाई गई।

एयरफोर्स के दो शीर्ष अधिकारी पहली बार इस अनोखे आयोजन में शामिल हुए। दोनों अधिकारियों ने 1999 में हुए कारगिल युद्ध में अहम भूमिका निभाई थी ।

भारतीय वायु सेना की पहली महिला फ्लाइट इंजीनियर बनी हिना जायसवाल

नांबियार, धनोवा के बाद वायुसेना प्रमुख बनने के प्रमुख दावेदारों में से एक हैं। उन्होंने कारगिल युद्ध के दौरान मिराज-2000 विमान उड़ाया था, जबकि धनोवा ने मिग-21 बेड़े की कमान संभाली थी।

धनोवा ने इस मौके पर राफेल विमानों की खरीदारी को परिवर्तनकारी फैसला बताया। धनोवा ने कहा कि एयरफोर्स ने कारगिल युद्ध के बाद अपनी क्षमता काफी बढ़ाई है। सभी लड़ाकू विमान अत्याधुनिक हथियारों से लैस हैं।

कारगिल युद्ध के दौरान बमबारी के लिए केवल मिराज-2000 के पास लेजर निर्दिष्ट पॉड थे। भारी मालवाहक हेलीकॉप्टर चिनूक और हमला करने वाले अपाचे हेलीकॉप्टर एयरफोर्स की क्षमता बढ़ाएंगे।