श्रीनगर में प्रतिबंध, एनआइए ने मीरवाइज को तीसरी बार भेजा समन

श्रीनगर

श्रीनगर| श्रीनगर की सेंट्रल जेल में कैदियों और जेल अधिकारियों के बीच हुई झड़प के एक दिन बाद पुलिस ने श्रीनगर के पुराने शहर के क्षेत्रों में प्रतिबंध लगा दिए हैं।

वरिष्ठ अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारूक को शहर के बाहर निगीन इलाके में उनके घर में नजरबंद रखा गया है। मीरवाइज उमर फारूक शुक्रवार को जामा मस्जिद में धर्म उपदेश देते हैं ।

पुराने शहर और बाकी संवदेनशील इलाकों में अतिरिक्त पुलिस और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवानों को तैनात किया गया है।

कुछ कैदियों को कश्मीर घाटी से बाहर भेजे जाने की अफवाह के बाद 4 अप्रैल को श्रीनगर कारागार में झड़प हो गई थी। हालात पर काबू करने में जेल अधिकारियों की मदद के लिए अतिरिक्त सुरक्षाकर्मियों को भेजा गया। झड़प में दो लोग घायल हो गए जबकि नाराज कैदियों ने जेल में मौजूद अस्थायी शेल्टर जला दिया।

इसी बीच राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानि एनआईए ने मीरवाइज उमर फारूक को दिल्ली में एजेंसी के समक्ष 18 अप्रैल को पेश होने के लिए तीसरी बार समन जारी किया है। ये समन आतंकवादी फंडिंग मामले में शामिल होने के आरोप में भेजा गया है । एजेंसी ने अलगाववादी नेता को सुरक्षा की देखरेख का जिम्मा लेने की बात कही थी। सुरक्षा व्यवस्था का हवाला देते हुए मीरवाइज एजेंसी के सामने पेश होने से कतराते रहे हैं ।