सरकारी कार्यालयों में दौड़ लगाने की विरासत से आज़ादी दिलाएगी राष्ट्रीय एकल खिड़की प्रणाली

सरकारी कार्यालयों में दौड़ लगाने की विरासत से आज़ादी दिलाएगी राष्ट्रीय एकल खिड़की प्रणाली

नई दिल्ली। राष्ट्रीय एकल खिड़की प्रणाली (एनएसडब्ल्यूएस) की शुरूआत भारत को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। केन्द्रीय वाणिज्य उद्योग, टैक्सटाइल उपभोक्ता मामले और सार्वजनिक वितरण मंत्री पीयूष गोयल ने ऐसा इस सुविधा का शुभारंभ करते हुए कहा। उन्होंने कहा कि एनएसडब्ल्यूएस अनुमोदनों और पंजीकरणों के लिए सरकारी कार्यालयों में दौड़ लगाने की विरासत से आजादी दिलाने में सहयोग करेगी।

उन्होंने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के इस 75वें सप्ताह में न केवल भारत बल्कि दुनिया के निवेशकों, व्यापार मालिकों (एमएसएमई ) के साथ आजादी के अमृत को साझा कर सकते हैं। एनएसडब्ल्यूएस सरकारी कार्यालयों में दौड़ लगाने की विरासत यानी ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’, ‘ईज ऑफ लिविंग’, ‘कागजी कार्यवाही से आजादी’ खिड़की के भीतर विभिन्न खिड़कियों से डुप्लीकेशन और विषमता से आजादी दिलाने में मदद करेगी।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्णायक और साहसिक नेतृत्व में देश को बड़ा सपना देखने में सक्षम और प्रोत्साहित किया है। उनका विज़न राष्ट्र की प्रगति और करोड़ों नागरिकों के लिए समृद्धि का मिशन बन गया है। राष्ट्रीय स्तर पर व्यवसायों और सरकार के बीच एकल इंटरफेस की जरूरत को लम्बे समय से महसूस किया जा रहा है।

इस अवसर पर गोयल ने कहा कि यह एकल खिड़की पोर्टल अनुमोदनों और मजूंरियों हेतु निवेशकों के लिए वन-स्टॉप शॉप बन जाएगा। यह पोर्टल आज 18 केन्द्रीय विभागों और 9 राज्यों में अनुमोदन होस्ट करता है। अन्य 14 केन्द्रीय विभागों और 5 राज्यों को दिसंबर, 2021 तक इस पोर्टल में जोड़ लिया जाएगा।

गोयल ने कहा कि ‘एंड टू एंड’ सुविधा के माध्यम से माउस की एक क्लिक पर सभी समाधान उपलब्ध होंगे। इससे इको-सिस्टम में पारदर्शिता, जवाबदेही और उत्तरदायित्व आएगा और सभी जानकारी एकल डैशबोर्ड पर उपलब्ध होगी। विभिन्न आवेदन करने, ट्रैक करने और प्रश्नों की जवाब देने के लिए एक आवेदक डैशबोर्ड भी उपलब्ध होगा। सेवाओं में अपने अनुमोदन को जानना (केवाईए), आम पंजीकरण एवं राज्य पंजीकरण फॉर्म, दस्तावेज भंडार और ई-संचार शामिल हैं।

गोयल ने कहा कि आज भारत पर दुनिया की नजर है और पूरा विश्व भारत को आर्थिक महाशक्ति के रूप में उसके उचित स्थान का दावा करने के रूप में देख रहा है। वित्त वर्ष 2022 की पहली तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 20 प्रतिशत से अधिक बढ़ोतरी हुई है। अगस्त, 2020 के मुकाबले इस अगस्त में निर्यात में 45.17 प्रतिशत वृद्धि हुई है। वर्ष 2020 में 81.72 बिलियन अमेरिकी डॉलर रिकॉर्ड प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की तुलना में इस वित्त वर्ष के पहले तीन महीनों में वर्ष 2020 की इसी अवधि की तुलना में 22.53 बिलियन डॉलर की आमद रही। जीआईआई में भारत 46वें स्थान पर पहुंच गया है। इस प्रकार इसमें पिछले 6 वर्षों में 35 पायदानों की छलांग लगाई है।

उन्होंने कहा कि तेजी से सुधार होने के कारण हम पिछले सात वर्षों में शुरू की गई अन्य परिवर्तनकारी और राष्ट्र निर्माण की पहलों की तरह सबसे तेजी से बढ़ रही अर्थव्यवस्थाओं में से पुनः एक बनने की राह आ गए है।

Be the first to comment on "सरकारी कार्यालयों में दौड़ लगाने की विरासत से आज़ादी दिलाएगी राष्ट्रीय एकल खिड़की प्रणाली"

Leave a Reply