सुशांत की मौत पर कंगना ने कहा – यह सुसाइड नहीं प्लान मर्डर था, शेखर कपूर ने भी उठाए सवाल

सुशांत की मौत पर कंगना ने कहा - यह सुसाइड नहीं प्लान मर्डर था, शेखर कपूर ने भी उठाए सवाल

मुंबई । हिन्दी सिनेमा के जाने माने सितारे  सुशांत सिंह राजपूत  पंचतत्व में विलीन हो गए। सुशांत की खुदकुशी के बाद एक बार फिर यह सवाल उठ रहे हैं कि परदे पर प्यार-मोहब्बत, हिम्मत और हौसले की कहानी दिखाने वाले बॉलीवुड के परदे की पीछे की कहानी क्या हताशा और निराशा से भरी हुई है ? यह सवाल भी कोई और नहीं बॉलीवुड के भीतर से ही उठ रहे हैं। अभिनेता और फिल्म निर्देशक शेखर कपूर और फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर सवाल उठाए हैं।

शेखर कपूर ने अपने ट्वीट में लिखा कि ” मैं जानता था कि तुम किस दर्द से गुजरे। मैं जानता था उन लोगों के बारे में जिन्होंने तुम्हें बुरी तरह से निराश किया। मैं जानता था उन लोगों के बारे में जिनकी वजह से तुम मेरे कंधे पर आकर रोया करते थे। काश मैं पिछले 6 महीनों में तुम्हारे आस-पास रह पाता,  काश कि तुम मुझसे बात कर पाते। तुम्हारे साथ जो हुआ वो तुम्हारा नहीं, बल्कि उन लोगों के कर्मों का फल है।”

शेखर कपूर ने इस ट्वीट के बाद न केवल सुशांत सिंह राजपूत के प्रशंसक बल्कि हिन्दी सिनेमा से जुड़े कई लोग भी यह जानना चाहते हैं कि अपनी कामयाबी की कहानी खुद लिखने लाने वाले सुशांत के जीवन में ऐसी कौन सी बातें थीं जिसने उन्हें अशांत कर रखा था ? आख़िर क्यों सुशांत ने आत्महत्या कर अपने जीवन को समाप्त कर लिया।

दुनिया को अलविदा कह गए जाने माने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत

इधर, बॉलीवुड में अपनी बेबाकी के लिए जाने वाली कंगना रनौत ने भी सुशांत सिंह राजपूत के निधन पर अपना गुस्सा जाहिर किया।  कंगना की टीम ने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें वह कह रही हैं, ”सुशांत सिंह राजपूत की मौत ने हम सभी को झकझोर कर रख दिया है, लेकिन कुछ लोग जो इस चीज में माहिर है कि वह पैनल नैरेटिव चला रहे हैं चलाना है, वो बता रहे हैं कि कुछ लोगों का दिमाग कमज़ोर होता है, वो डिप्रेशन में आ जाते हैं और सुसाइड कर लेते हैं। वह इंजीनियरिंग के एंट्रेंस एग्जाम का रैंक होल्डर है। उसका दिमाग इतना कमजोर कैसे हो सकता है।”

कंगना रनौत ने अपने इस वीडियो संदेश में सुशांत को लेकर कहा कि “उनके लास्ट पोस्ट देखिए। वह लोगों से कह रहे हैं कि मेरी फिल्में देखिए। मेरा कोई गॉडफादर नहीं है मुझे निकाल दिया जाएगा इस इंडस्ट्री से। अपने इंटरव्यू में वो जाहिर कर रहे हैं कि मुझे क्यों नहीं इंडस्ट्री अपनाती है। तो इस हादसे की कोई बुनियाद नहीं है।”

कंगना रनौत ने फिल्मों में मिलने वाले अवार्ड को लेकर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि “गली बॉय” जैसी वाहियात फिल्म को सारे अवॉर्ड मिल जाते  हैं लेकिन छिछोरे या काई पो छे जैसी फिल्म को कोई अवार्ड नहीं मिलता। कंगना ने कहा कि “छिछोरे उनकी बेस्ट फिल्म थी। उनकी फिल्म को स्वीकार नहीं किया जाता है। हमें आपसे कुछ नहीं चाहिए। लेकिन हम जो करते हैं उन्हें आप एक्नॉलेजमेंट क्यों नहीं देते हैं। मैं जिस फिल्मों को डायरेक्ट करती हूं उसे ये लोग फ्लॉप घोषित करते हैं।”

थकना,  हारना,  टूटना-बिखरना,  मानव को मंजूर नहीं : नरेंद्र मोदी

उन्होंने अपने ऊपर केस करने को लेकर भी सवाल खड़े किए। कंगना ने आगे कहा, “वो मुझे मैसेज करते हैं कि तुम्हारा बहुत कठिन समय चल रहा है, कोई ऐसा वैसा कदम मत उठा लेना। क्यों वो मेरे दिमाग में डालना चाहते हैं कि मैं सुसाइड कर लूँ।”

सुशांत की मौत पर कंगना ने कहा कि यह सुसाइड नहीं बल्कि प्लान मर्डर था। सुशांत की गलती है वह उनकी गलती मान गया, वह किसी लायक नहीं हैं वह उनकी बातें मान गया।”

कंगना रनौत और शेखर कपूर की बातों ने हिन्दी सिनेमा के परदे के पीछे की कहानी को एक बार फिर सवालों के घेरे में लाकर खड़ा कर दिया है।