हर पीढ़ी के पसंदीदा अभिनेता ऋषि कपूर ने दुनिया को अलविदा कहा 

ऋषि कपूर का निधन

मुंबई। अभिनेता इरफ़ान ख़ान की मौत के बाद भारतीय सिनेमा के लिए एक और दुखद ख़बर, जाने माने अभिनेता ऋषि कपूर का मुंबई के एच एन रिलायंस फाउंडेशन हॉस्पिटल में निधन हो गया।

ऋषि कपूर पिछले कुछ समय से ल्यूकेमिया यानि ब्लड कैंसर की बीमारी का पूरे हौसले के साथ मुक़ाबला कर रहे थे। बुधवार को रणधीर कपूर ने अपने छोटे भाई ऋषि कपूर के संबंध में जानकारी साझा करते हुए कहा था कि वह अस्पताल में कैंसर से लड़ाई लड़ रहे हैं। उन्हें साँस लेने में भी तक़लीफ़ थी जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करना पड़ा था। बीते दो साल से ब्लड कैंसर का मुक़ाबला करने वाले इस अभिनेता के चेहरे पर कभी शिकन नहीं आती थी। आख़िरी वक्त में भी वह अस्पताल में डॉक्टरों और स्टॉफ के लोगों को हँसाते रहे।

दुनिया को अलविदा कह गए, परदे पर हर किरदार को जीवंत बनाने वाले इरफ़ान ख़ान

भारतीय सिने जगत के मशहूर अभिनेता राज कपूर के दूसरे बेटे ऋषि कपूर का जन्म 4 सितंबर 1952 को मुंबई में हुआ। उन्होंने अपनी शुरूआती पढ़ाई मुंबई के कैंपियन स्कूल से की थी।

मेरा नाम जोकर के बाल कलाकार के बाद फिल्म बॉबी के मुख्य किरदार की भूमिका में उन्होंने परदे पर धूम मचा दी थी। इस फिल्म का निर्देशन उनके पिता राजकूपर ने ही किया था। वह हर पीढ़ी के पसंदीदा अभिनेता रहे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर अपनी संवेदनाएँ व्यक्त करते हुए लिखा,  ‘ ऋषि कपूर जी। प्रतिभा के पावरहाउस थे। वे फिल्मों और भारत की प्रगति को लेकर भावुक थे। उनके निधन से दुखी हूँ।

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इस ख़बर पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि ऋषि कपूर का आकस्मिक निधन चौंकाने वाला है। वह न केवल एक महान अभिनेता थे, बल्कि एक अच्छे इंसान भी थे।’