9000 किलो से ज्यादा सोने का मालिक है तिरुपति मंदिर

Tirupati TemplePhoto Credit: Tirumala.org

तिरुपति आंध्रप्रदेश के तिरुपति बालाजी मंदिर के पास 9000 किलो से ज्यादा सोना है। मंदिर के पास ये सोना मुख्य रूप से चढावे के तौर पर आता है ।

इस मंदिर के प्रबंधन के लिए जिम्मेदार संस्था तिरुमला तिरुपति देवस्थानम (टीटीडी) इस सोने का रखरखाव करती है।

वर्तमान में तिरुमला तिरुपति देवस्थानम का 7,235 किलो सोना अलग-अलग योजनाओं के तहत देश के दो बैंकों में जमा है ।

टीटीडी के खजाने में 1,934 किलो सोना है, जिसमें पंजाब नेशनल बैंक से पिछले महीने वापस किया गया 1,381 किलो सोना शामिल है। पीएनबी ने ये सोना जमा योजना के तहत तीन साल रखने के बाद लौटाया था।

टीटीडी बोर्ड को अब यह तय करना है कि 1,381 किलो सोना किस बैंक में जमा करना है।

खजाने में जमा बाकी 553 किलो सोने में श्रद्धालुओं के चढ़ावे के छोटे-छोटे आभूषण शामिल हैं।

पिछले महीने तमिलनाडु में चुनाव अधिकारियों ने टीटीडी का 1,381 किलो सोना तब जब्त कर लिया था जब पीएनबी की चेन्नई ब्रांच से ये टीटीडी के खजाने में ले जाया जा रहा था। बाद में जांच करने पर ये सोना तिरुपति मंदिर का होने की बात सामने आई ।

मंदिर का 1,311 किलो सोना 2016 में पीएनबी के पास जमा किया गया था। बैंक ने ब्याज में 70 किलो सोना के साथ जमा सोना वापस किया था।

टीटीडी की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक उसका 5,387 किलो सोना भारतीय स्टेट बैंक के पास जमा है और 1,938 किलो सोना इंडियन ओवरसीज बैंक के पास जमा है। पिछले दो दशक से टीटीडी अपना सोना कई सरकारी बैंकों में विभिन्न जमा योजनाओं के तहत जमा रखता है।

इस मंदिर में रोजाना 50,000 तीर्थयात्री पहुंचते हैं और मंदिर की सालाना आमदनी 1,000 करोड़ रुपये से लेकर 1,200 करोड़ रुपये है।